मधुमेह के सुरूआती और प्रमुख लक्षण-Diabetes symptoms in Hindi

Diabetes symptoms in Hindi-मधुमेह के प्रमुख लक्षण

मधुमेह क्या है? | डायबिटीज के प्रकार |  लक्षण | सावधानियां 

हम लोग प्रतिदिन जो भोजन ग्रहण करते हैं, उन सभी भोजन को हमारे आंतों के द्वारा पचाया जाता है और वह पचा हुआ भोजन तरल के रूप में हमारे लीवर में पहुंचता है। यकृत में पहुंचने के बाद उन सभी तरल पदार्थों को यकृत के द्वारा ग्लाइकोजन में परिवर्तित कर दिया जाता है। उसके बात ग्लाइकोजन (glycogen) का प्रवेश पोर्टल वेन (portal vein) में होता है जहां ग्लाइकोजन को इंसुलिन के द्वारा ग्लूकोस या शुगर (Diabetes in Hindi) में बदल दिया जाता है। उसके बाद इस ग्लूकोज को रक्त के सहारे पूरे शरीर के कोशिकाओं तक पहुंचा दी जाती है। जिससे हमारे पूरे शरीर को ऊर्जा मिलती है।

मधुमेह क्या है? : What is Diabetes in Hindi?


इंसुलिन एक हार्मोन है जिसका उत्पादन पैंक्रियास ग्रंथि के द्वारा सामान्य रूप से हमारे शरीर में होती हैं। अगर यह हार्मोन पैंक्रियास ग्रंथि के द्वारा हमारे शरीर में समान रूप से उत्पन्न ना हो पाए या इसका उत्पादन कम हो जाए तो इस परिस्थिति में डायबिटीज की समस्या हमारे शरीर में उत्पन्न होती है।

इंसुलिन का सामान्य रूप से हमारे शरीर में उत्पन्न ना होना डायबिटीज का मुख्य कारण माना जाता है। क्योंकि इंसुलिन एक ऐसा हार्मोन है जो हमारे रक्त में शुगर की मात्रा सामान्य रखता है तथा शुगर को हमारे शरीर के सभी कोशिकाओं तक पहुंचाने में मदद करता है। अगर पैंक्रियास ग्रंथि का काम करना बंद हो जाए या पैंक्रियास ग्रंथि पूरी तरह से खराब हो जाए तो वह इंसुलिन का उत्पादन कम हो जाता है या तो फिर इंसुलिन का उत्पादन बंद हो जाता है जिसके कारण हमारे शरीर के सभी कोशिकाओं तक शुगर की सही मात्रा नहीं पहुंच पाती है परिणाम स्वरूप हमारा शरीर कमजोर पड़ना शुरू हो जाता है और हमारे रक्त में शुगर की मात्रा बढ़ने लगती है जिसके कारण व्यक्ति डायबिटीज जैसी बीमारी से ग्रसित हो जाता है।

आज के समय में सभी उम्र के व्यक्तियों में यह बीमारी को देखा जा सकता है कुछ ऐसे जांच भी सामने आए हैं जिसमें बच्चों में भी डायबिटीज की बीमारी देखी गई है।

शुगर/मधुमेह/डायबिटीज के प्रकार : Types of Diabetes.


मधुमेह के मुक्ता तीन प्रकार होते हैं।

टाइप 1 मधुमेह/Type 1 Diabetes
टाइप 2 मधुमेह/Type 2 Diabetes
जेस्टेशनल मधुमेह/Gestational Diabetes

मधुमेह में दिखने वाले प्रमुख लक्षण : Symptoms of Diabetes in Hindi.


मधुमेह के सुरूआती और प्रमुख लक्षण

बार बार पेशाब लगना


मधुमेह के शुरुआती लक्षणों में बार-बार पेशाब लगना एक प्रमुख लक्षण माना जाता है। जब आपके शरीर में डायबिटीज की समस्या उत्पन्न होने वाली होती है तो हमारे रक्त में शुगर की मात्रा बढ़ जाती है जिसके कारण हमारे गुर्दे का काम बढ़ जाता है। हमारा गुर्दा पेशाब को जल्दी जल्दी साफ करता है जिसके कारण बार बार पेशाब लगने की समस्या उत्पन्न होती है।

अधिक मात्रा में पेशाब होना


हमारे गुर्दा का काम बढ़ने के कारण वह जल्दी जल्दी और अधिक मात्रा में पेशाब को साफ करता है जिसके कारण अधिक मात्रा में पेशाब होने की समस्या उत्पन्न होती है।

ज्यादा प्यास लगना


अधिक मात्रा में पेशाब और जल्दी जल्दी पेशाब होने के कारण से हमारे शरीर में पानी की कमी हो जाती है जिसके कारण ज्यादा प्यास लगने की समस्या उत्पन्न होती है।

शारीरिक थकान ज्यादा होना


जब पेनक्रियाज ग्रंथियां इन्सुलिन नामक हार्मोन का उत्पादन कम या बंद कर देती हैं तब हमारे शरीर के कोशिकाओं तक शुगर की पर्याप्त मात्रा नहीं पहुंच पाती है जिसके कारण हमारे शरीर के कोशिकाओं में ऊर्जा का उत्पादन कम या बंद हो जाता है। कोशिकाओं में ऊर्जा का उत्पादन ना होने के कारण हमारे पूरे शरीर को ऊर्जा प्राप्त नहीं हो पाती जिसके कारण हल्के काम में भी हमारा शरीर थक जाता है।

ज्यादा भूख लगना


जब हमारे कोशिकाओं तक शुगर की पर्याप्त मात्रा नहीं पहुंच पाती जिसके कारण हमारे शरीर को पर्याप्त मात्रा में ऊर्जा नहीं मिल पाता है और इस ऊर्जा को पूरा करने के लिए बार बार भूख लगने की समस्या उत्पन्न होती है। यह लक्षण डायबिटीज के शुरुआती लक्षणों में से एक माना जाता है।

शरीर का वजन बढ़ना या कम होना


जब कोई व्यक्ति शुगर से ग्रसित होता है तब उसका शारीरिक वजन अचानक से बढ़ना शुरू हो जाता है या तो फिर अचानक से घटना शुरू हो जाता है यह लक्षण मुख्यत रक्त में शुगर की अधिक मात्रा होने के कारण होती है।

शरीर में पानी की कमी हो जाना


बार बार पेशाब आना इसका मुख्य कारण है जब हमारे शरीर को पर्याप्त मात्रा में पानी नहीं मिल पाती और हमारे शरीर से अधिक मात्रा में पानी निकलता है तो इस परिस्थिति में हमारे शरीर में पानी की कमी शुरू हो जाती है।

जख्मों का जल्दी ना भर पाना


ज़ख्मों का ठीक होना या उसका भरना यह दवाओं के साथ साथ हमारे प्रतिरक्षा प्रणाली पर भी निर्भर करता है। स्व प्रतिरक्षा प्रणालियों में कुछ गड़बड़ियों के कारण ही टाइप वन डायबिटीज की बीमारी उत्पन्न होती है। प्रतिरक्षा प्रणाली में कुछ गड़बड़ियों के कारण ही जिन लोगों को डायबिटीज की समस्या है उनमें कटने या छिलने पर बहुत जल्द संक्रमण होना या उनका जल्द ठीक ना हो पाना, संक्रमण से संवेदनशील होना यह सभी लक्षण दिखने शुरू हो जाते हैं।

मूत्र में चीनी की अधिकता होना 


जब हमारा पैंक्रियास ग्रंथि इंसुलिन का निर्माण काम या बंद कर देता है तो हमारे रक्त में शुगर की मात्रा बढ़ जाती है जिसके कारण हमारे गुर्दे का काम बढ़ जाता है। रक्त में अधिक मात्रा में शुगर होने के कारण हमारे पेशाब में भी शुगर की मात्रा दिखनी शुरू हो जाती है।

गुप्त अंगों में खुजली एवं गांव का उत्पन्न होना


यह लक्षण मुक्ता रक्त में चीनी की मात्रा अधिक होने के कारण दिखती है जब हमारे रक्त में शुगर की मात्रा अधिक बढ़ जाती है तो हमारे शरीर के किसी भी अंग में खुजली एवं घाव का उत्पन्न होना देखा गया है।

मधुमेह/डायबिटीज होने का मुख्य कारण : causes of Diabetes in Hindi.


डायबिटीज होने का मुख्य कारण इंसुलिन नामक हार्मोन का सामान्य रूप से उत्पन्न ना होना माना जाता है। लेकिन इसके और भी बहुत कारण है जिससे आपमें डायबिटीज की बीमारी उत्पन्न हो सकती है।

  • जब हमारे शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली में गड़बड़ी होती है और वह उल्टा प्रक्रिया शुरू कर देती है। जिसके कारण हमारी प्रतिरक्षा प्रणाली पैंक्रियास ग्रंथि के कोशिकाओं को खत्म करना शुरू कर देती है जिसके कारण इंसुलिन का बनना बंद हो जाता है और डायबिटीज की बीमारी उत्पन्न होती है।
  • अनुवांशिकता : डायबिटीज होने का मुख्य कारण अनुवांशिकता को भी देखा गया है। अनुवांशिकता के कारण लगभग 30% ऐसे लोग हैं जिन्हें डायबिटीज की बीमारी होती है।
  • बहुत ज्यादा चिंता करना है या अध्ययन करना और मानसिक परिश्रम करना
  • शारीरिक परिश्रम या व्यायाम न करना
  • कुछ ऐसी बीमारी है जिसके कारण डायबिटीज की समस्या उत्पन्न हो सकती है जैसे वूपिंग कफ, श्वास कास, मिर्गी, गठिया, मलेरिया आदि।
  • क्लोरोफॉर्म सूंघने के बाद शरीर विषाक्त हो जाने से भी मधुमेह की बीमारी उत्पन्न हो सकती है।
  • मोटापा भी इसका एक कारण है अगर आप अत्यधिक मोटे हैं तो आप में डायबिटीज की समस्या उत्पन्न हो सकती है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *