इरेक्टाइल डिसफंक्शन के कारण और इलाज-Erectile Dysfunction in Hindi,

इरेक्टाइल डिसफंक्शन के कारण और इलाज-Erectile dysfunction in Hindi

इरेक्टाइल डिसफंक्शन (Erectile Dysfunction) से बहुत लोगों में तनाव की स्थिति बनी हुई होती है। इसके कारण बहुत सारे लोग डिप्रेशन में भी चले जाते हैं। इरेक्टाइल डिसफंक्शन मुख्यता जब भी आप अपने साथी के साथ कामेच्छा की क्रिया शुरू करते हैं। तो

    • लिंग में तनाव नहीं आ पाता है। 
    • लिंग में तनाव आता तो है लेकिन पूरी तरह से नहीं आता है ।
  • पेनिस में तनाव आता तो है लेकिन वह जल्दी खत्म हो जाता है।

इन्हीं प्रक्रिया को erectile dysfunction कहा जाता है।  मुख्यत यह उन लोगों में ज्यादा देखा गया है जो अक्सर तनाव में रहते हैं। नपुंसकता के कारण लिंग शिथिल पड़ जाता है। उनमें इरेक्शन बहुत ही कम होते हैं या तो फिर खत्म हो जाते हैं।

erectile dysfunction यानी नपुंसकता एक ऐसी यौन संबंधित बीमारी है।  जिन्हें लोग दूसरों को बताने में शर्मिंदगी महसूस करते हैं। जिसके कारण बहुत सारे लोग गलत तरीकों को अपनाकर इस यौन संबंधित बीमारी को ठीक करना चाहते हैं। फलतः उनकी बीमारी ठीक होने के बजाय और बढ़ जाती है।

इरेक्टाइल यानी लिंग का सीधापन क्या है ? : What is Erectile ?


जब आप अपने साथी के साथ संबंध बनाना शुरु करते हैं। तो आपके दिमाग में एक तरह का उत्तेजना पैदा होता है। उसी उत्तेजना के कारण आपके लिंग में तनाव शुरू होती है। और उसी तनाव के कारण आपका लिंग सीधा होता है जिसे इरेक्टाइल यानी लिंग का सीधापन कहा जाता है। यह उन्हीं व्यक्तियों में देखा गया है। जो व्यक्ति बिल्कुल भी स्वस्थ रहते हैं। जिन व्यक्तियों के दिमाग में किसी भी तरह का डर , हिचकिचाहट , तनाव , असमंजस की स्थिति नहीं रहती है। उन व्यक्तियों में इरेक्टाइल यानी लिंग में तनाव बहुत ही बेहतर होते हैं।

मुख्यता लिंग में तनाव का कारण लिंग के रक्त नलिकाओं में रक्त का प्रवाह माना जाता है। अगर आपके लिंग के रक्त नलिकाओं में रक्त का प्रवाह बहुत बेहतर होगा तो आपके लिंग में तनाव उतनी ही अच्छी होगी। लिंग के रक्त नलिकाओं में जब रक्त का प्रवाह बढ़ता है। तो लिंग के रक्त नलिकाएं फैलती है। जिसके कारण लिंग में तनाव उत्पन्न होता है।

इरेक्टाइल डिसफंक्शन / नपुंसकता किन कारणों से होता है और बढ़ता है? : Erectile dysfunction cause Hindi : 


erectile dysfunction / नपुंसकता के बहुत कारण होते हैं। लेकिन इसमें से प्रमुख तीन है।

  1. शारीरिक कमजोरी / Physical weakness
  2. मानसिक कमजोरी / Mental weakness
  3. हारमोनल कमजोरी  / Hormonal weakness

Physical weakness / शारीरिक कमजोरी के कारण इरेक्टाइल डिसफंक्शन नपुंसकता कि समस्या देखी जाती है। सभी व्यक्तियों में शारीरिक कमजोड़ीयो की समस्या अलग-अलग पाई जाती है।

1 – शारीरिक कमजोरी / Physical weakness :

शारीरिक कमजोरियां बहुत तरह की होती हैं। आम शारीरिक कमजोरी  / Normal Physical weakness और जटिल शारीरिक कमजोरी severe Physical weakness / शारीरिक कमजोरी के कारण मनुष्य में इरेक्टाइल डिसफंक्शन की समस्या उतनी ज्यादा नहीं देखी गई हैं। लेकिन आपमें शारीरिक कमजोरी की समस्या जटिल है तो इरेक्टाइल डिसफंक्शन / नपुंसकता विकसित हो सकती है।

A – उच्च रक्तचाप / High Blood Pressure : 

शारीरिक कमजोरी में हाई ब्लड प्रेशर को इरेक्टाइल डिसफंक्शन के लिए एक प्रमुख कारण माना जाता है जिन व्यक्तियों को उच्च रक्तचाप की समस्या होती है उनमें erectile dysfunction की समस्या आम मानी जाती है।

B – कैंसर / Cancer : 

कैंसर प्रारंभ में कैंसर का पता लगा पाना बहुत मुश्किल होता है। जब तक आप की शारीरिक जांच नहीं हो पाती है कैंसर का पता लगा पाना बहुत ही मुश्किल होता है जिन व्यक्तियों में कैंसर की समस्या है। उन व्यक्तियों में भी erectile dysfunction / नपुंसकता पाई गई है कैंसर के कारण रक्त नलिकाओं पर बुरा असर पड़ता है जो इरेक्शन बनाए रखने की प्रक्रिया के लिए जरूरी होती हैं।

और पढ़ें स्तन कैंसर के मुख्य लझण

c – धूम्रपान / Smoking :

जो व्यक्ति धूम्रपान के शौकीन होते हैं। उनमें भी erectile dysfunction की समस्या देखी गई है। नियमित तौर पर धूम्रपान करने वाले व्यक्तियों के अंदर निकोटिन की मात्रा ज्यादा हो जाती है। जिसके कारण उन रक्त नलिकाओं में अवरोध पैदा होता है। जो इरेक्शन रखने की प्रक्रिया के लिए जरूरी होती है । रक्त नलिकाओं में  रक्त का प्रवाह सामान्य रूप से नहीं हो पाता जिसके कारण रक्त नलिकाएं सिकुड़ते हैं और यह erectile dysfunction की समस्या देखी जाती है।

D – शराब की लत / Alcoholic : 

जो लोग लंबे समय से शराब की लत में हैं। उनमें नपुंसकता इरेक्टाइल डिसफंक्शन विकसित हो सकती है। अधिक मात्रा में अल्कोहल का सेवन करना आपके लिंग के रक्त नलिकाओं में अवरोध पैदा कर सकती है। अगर संभोग करते समय आपके खून में अल्कोहल की मात्रा नही भी होगी तब भी इरेक्टाइल डिसफंक्शन /नपुंसकता देखी जा सकती है।

E – हाई कोलेस्ट्रॉल / High Cholesterol  :

हाई कोलेस्ट्रॉल भी एक मुख्य कारण है erectile dysfunction के लिए। अगर आप नियमित रूप से एक्सरसाइज नहीं करते हैं तो आपमें कोलेस्ट्रॉल की मात्रा बढ़ सकती है। बढ़ी हुई कोलेस्ट्रॉल की मात्रा आपमें  erectile dysfunction/ नपुंसकता को बढ़ा सकती है।

F – डायबिटीज / Diabetes : 

पहले डायबिटीज की समस्या व्यक्तियों में 40 वर्ष के बाद होती थी। लेकिन अब डायबिटीज की समस्या व्यक्तियों में 25 – 30 वर्षों में ही देखी जा रही है। किसी भी व्यक्ति में अगर डायबिटीज की समस्या है तो उसमें इरेक्टाइल डिसफंक्शन / नपुंसकता की समस्या विकसित होती है।

G – मोटापा / obesity : 

मोटापे के कारण भी erectile dysfunction बहुत हद तक देखा गया है। जो व्यक्ति हद से ज्यादा मोटे होते हैं। उनमें कोलेस्ट्रॉल की मात्रा भी अधिक पाई जाती है। जो रक्त नलिकाओं को प्रभावित करते हैं। जिसके कारण erectile dysfunction/ नपुंसकता बढता है।

erectile dysfunction
erectile-dysfunction

2 – मानसिक कमजोरी / Mental weakness

मानसिक कमजोरी अक्सर पूरे शरीर पर प्रभाव डालती है। मानसिक कमजोरी के कारण erectile dysfunction / नपुंसकता बहुत ज्यादा देखी गई है। मुख्यता erectile dysfunction का कारण मानसिक कमजोरी को ही माना गया है। अक्सर लोग संबंध बनाते समय बहुत कुछ सोचना शुरु कर देते हैं। जिसके कारण erectile dysfunction / नपुंसकता विकसित होती है।

A – तनाव के कारण / Stress :

तनाव के कारण भी इरेक्टाइल डिसफंक्शन / नपुंसकता की समस्या देखी जा सकती है। अगर कोई व्यक्ति तनाव या डर में रहता है। तो उस उस व्यक्ति का पूरा मानसिक ध्यान उस तनाव और डर पर केंद्रित हो जाता है और इरेक्टाइल डिसफंक्शन / नपुंसकता विकसित होती है।

B – डिप्रेशन / Depression : 

डिप्रेशन एक मानसिक बीमारी है। जिसके कारण पूरा शरीर प्रभावित होता है।  डिप्रेशन बहुत कारणों से हो सकता है। जो व्यक्ति डिप्रेशन में होते हैं वह मानसिक तौर पर बहुत ज्यादा परेशान होते हैं। जिसके कारण रक्त नलिकाएं प्रभावित होती हैं और इरेक्टाइल डिसफंक्शन / नपुंसकता का समस्या देखा जाता है।

Depression एक तरह का मानसिक कमजोरी है जिसके कारण पूरा शरीर प्रभावित होता है। अगर कोई व्यक्ति किसी भी कारण से डिप्रेशन में है तो उसमें इरेक्टाइल डिसफंक्शन / नपुंसकता की समस्या देखी जा सकती है।

3 – अनुवांशिक कमजोड़ी / Hormonal weakness

अनुवांशिक कमजोड़ी / Hormonal weakness भी इरेक्टाइल डिसफंक्शन का मुख्य कारण माना गया है। इसमें मुख्यता टेस्टोस्टेरोन शामिल होते हैं। अगर आपमें टेस्टोस्टेरोन की संख्या कम पाई जाएगी तो आपमें इरेक्टाइल डिसफंक्शन / नपुंसकता की समस्या आपमें देखी जा सकती है। टेस्टोस्टेरोन की संख्या कम होने के कारण बहुत सारे यौन संबंधित बीमारियां विकसित होती हैं। उनमें से एक है। इरेक्टाइल डिसफंक्शन। टेस्टोस्टेरोन  की संख्या बढ़ाने के लिए इलाज मौजूद हैं।

आपने नपुंसकता का क्या कारण है कैसे पता लगाएं  :  How to find out what is the reason of erectile dysfunction.


नपुंसकता एक ऐसी बीमारी है। जिसके बारे में लोग बातें नहीं करना चाहते ना किसी डॉक्टर से ना किसी और से लेकिन जब तक आप नपुंसकता / erectile dysfunction के बारे में खुलकर बातें नहीं करेंगें। तब तक आप को जानने में बहुत कठिनाई होगी कि आपमें किस वजह से इरेक्टाइल डिसफंक्शन की समस्या उत्पन्न हुई है। नपुंसकता / erectile dysfunction को मुख्यता 4 तरीकों से डायग्नोस किया जाता है।

  1. यूरिन टेस्ट : Urine Test.
  2. ब्लड टेस्ट : Blood Test.
  3. अल्ट्रासाउंड : Ultrasound.
  4. साइकेट्रिस्ट के द्वारा : By Psychiatrist.

जो लोग तनाव , डर और डिप्रेशन और किसी भी तरह की मानसिक कमजोरी में रहते हैं तो उन्हें साइकेट्रिस्ट / मनोचिकित्सक के पास जाना अति आवश्यक हो जाता है। मनोचिकित्सक के पास जाने से पहले एक बात का खास ध्यान रखें क्योंकि जो बातें आप नहीं करना चाहते वही बातें मनोचिकित्सक के द्वारा आपसे पूछे जाएंगे।

इरेक्टाइल डिसफंक्शन नपुंसकता का इलाज कितनी तरह से किया जा सकता है।  : How many types can the treatment of erectile dysfunction :


erectile dysfunction/ नपुंसकता का इलाज मुख्यता 4 तरीकों से किया जा सकता है।

  1. अंग्रेजी दवाइयां  / Allopathic Medicine
  2. आयुर्वेदिक दवाइयां  / Ayurvedic Medicine
  3. होम्योपैथिक दवाइयां / Homeopathic Medicine
  4. घरेलू नुस्खे / Home Remedies

कुछ दवाइयां इरेक्टाइल डिसफंक्शन नपुंसकता के लिए  : Some Medicine For Erectile Dysfunction . 


कुछ दवाइयां जो आपके लिंग में रक्त प्रवाह को बढ़ाकर erectile dysfunction/ नपुंसकता को कुछ समय के लिए खत्म कर सकती है।

Sildenafil / सिल्ड्रेनाफिल / Vigora

Tadalafil / तडालफिल

Alprostadil /  एलप्रोस्टेडिल 

Vardenafil / वेरडेनफिल 

*इन सभी दवाओं का इस्तेमाल अपने डॉक्टर के बगैर सलाह के ना करें इसके दुष्प्रभाव देखे गए हैं।

1 thought on “इरेक्टाइल डिसफंक्शन के कारण और इलाज-Erectile Dysfunction in Hindi,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *