Fungikem Hindi-उपयोग/खुराक/दुष्प्रभाव/सावधानियां

Fungikem Hindi पुरी जानकारी

Molecule – Itraconazole

निर्माता कंपनी – Alkem Laboratories

उपयोग | खुराक | दुस्प्रवाह | कीमत | Substitute 

Fungikem Capsule क्या है ? : What is Fungikem Capsule Hindi ?


Fungikem ‘AZOLE’ समूह का सदस्य है। यह एक Anti fungal समूह का एक दवा है जो फंगल इन्फेक्शन को ठीक करने में मदद करती है।  AZOLE समूह में बहुत सारी दवाएं आती हैं जिसमें से एक है फुनगीकेम । 

फंगल इनफेक्शन आपके पूरे शरीर में कहीं भी उत्पन्न हो सकता है अगर इसका इलाज समय पर नहीं किया गया तो यह संक्रमण जटिलता का रूप ले लेता है जिसे ठीक कर पाना बहुत ही मुश्किल होती है। Fungikem hindi

फंगल इनफेक्शन बहुत तरह के होते हैं जैसे नाखूनों में फंगल इनफेक्शन, बालों में फंगल इनफेक्शन, गुप्तांगों में फंगल इनफेक्शन, पूरे शरीर में कहीं भी फंगल इनफेक्शन, आंखों में फंगल इनफेक्शन, रिंगवॉर्म, इत्यादि। इसके लिए उस फंगल इनफेक्शन को पहचानना तथा उसके अनुसार फंगल इनफेक्शन की दवाइयां चलाना महत्वपूर्ण होती है। फुनगीकेम सभी तरह के Fungal Infection को ठीक करता है कुछ मुख्य निचे दिए हैं।

यहाँ पर आप जानेगें ……..

  • क्या है फुनगीकेम कैप्सूल : What is Fungikem Capsule Hindi.
  • Fungikem कैप्सूल से ठीक होने बाली बीमारियाँ : Fungikem Uses Hindi .
  • फुनगीकेम  के खुराक : Fungikem Dosage
  • फुनगीकेम से होने बाले दुस्प्रवाह : Side effect of Iraconazole Capsule Hindi .
  • मुख्य बिंदु :  Important Points

 

फुनगीकेम से ठीक होने बाली बीमारियाँ : Fungikem Uses Hindi .


A – पीटीरिऑसिस वेरसिकलोर (Pityriasis Versicolor )


शरीर के कुछ हिसो में उजले रंग का धब्बा होना।

यह भी एक तरह का फंगल इन्फेक्शन ही है। इस फंगल इन्फेक्शन के कारण चमड़े का रंग बदल जाता है चमड़े पर उजले रंग के धब्बे पड़ जाते हैं। यह शरीर के किसी भी हिस्से में हो सकती है कुछ लोगों के चेहरे पर भी इसका असर देखा गया है। जिसके कारण कुछ लोग बहुत ज्यादा परेशान हो जाते हैं। पीटीरिऑसिस वेरसिकलोर को भी दूर करने में फुनगीकेम के कैप्सूल बहुत ही बेहतर काम करते हैं।

B- टिनिअ क्रूरिस (Tinea cruris )


इसे एक तरह का Ring worm ही कहा जाता है जो ज्यादातर चेहरे पर होते हैं।

C – टिनिअ कार्पोरिस (Tinea Carporis )


गुप्त अंगो में होने बाले Ring Worm को कहा जाता है। 

D – टिनिअ पेडिस (Tinea Pedis )


पैरो में होने बाले Ring Worm को कहा जाता है।

E – टिनिअ मेनम (Tinea Manuum )


हाँथो में होने बाले Ring Worm को कहा जाता है।

F -अनिकोमिक्सिस (Onycomycosis )


नाखूनों में होने बाले Ring Worm . इससे पैरों  के नाख़ून ख़राब हो जाते हैं। ओनिकोमाइकोसिस हाथों और पैरों के नाखूनों में होने वाले फंगल इंफेक्शन को कहा जाता है इससे हाथों और पैरों के नाखून पूरी तरह से खराब हो जाते हैं। जिसे ठीक कर पाना बहुत मुश्किल होता है।अनिकोमिक्सिस पर फुनगीकेम  कैप्सूल बहुत ही बेहतर काम करता है।

G – सिस्टेमिक कॅंडिडेसिस (Systemic Candidiasis )


ये संक्रमण आपके लिंग या योनि को प्रभाबित करता है।

फुनगीकेम के खुराक : Fungikem 200/100 Capsule Dosage 


सभी दवाइयों की खुराक बीमारी की जटिलता और व्यक्ति के उम्र तथा वजन पर निर्भर करता है अगर बीमारी की जटिलता ज्यादा होगी तो दवाइयों की खुराक को भी बढ़ाया जा सकता है। अगर किसी व्यक्ति का वजन ज्यादा होता है उस संदर्भ में भी दवाइयों की खुराक को बढ़ाया जा सकता है। कभी-कभी बीमारियों की जटिलता और व्यक्ति के वजन को देखते हुए दवाइयों की खुराक को दोगुना करना पड़ सकता है। इसके लिए जरूरी है कि दवाइयों के संपूर्ण खुराक को जानने के लिए आप अपने नजदीकी डॉक्टर से संपर्क जरूर करें।

 बीमारी खुराक
पीटीरिऑसिस वेरसिकलोर
 (Pityriasis Versicolor )
Fungikem 200 mg दिन में एक टेबलेट 7 दिनों के लिए
टिनिअक्रूरिस
 (Tinea cruris )
Fungikem 100 mg दिन में एक टेबलेट 15 दिनों के लिए
टिनिअकार्पोरिस
(Tinea Carporis )
Fungikem 100 mg दिन में एक टेबलेट 15 दिनों के लिए
टिनिअपेडिस
 (Tinea Pedis )
Fungikem 100 mg दिन में एक टेबलेट 30 दिनों के लिए
टिनिअ मेनम
(Tinea Manuum )
Fungikem 100 mg दिन में एक टेबलेट 30 दिनों के लिए
सिस्टेमिक कॅंडिडेसिस
(Systemic Candidiasis)
Fungikem 100 mg or 200 mg जब तक ठीक न हो जाए 
अनिकोमिक्सिस
 (Onycomycosis )
Fungikem 200 mg दिन में एक टेबलेट 3 महीनो दिनों के लिए

फुनगीकेम के दुस्प्रवाह : Fungikem 200/100 Side Effects

  • उलटी या उलटी जैसा लगना। 
  • सर दर्द 
  • मतली 
  • पेट दर्द 

फुनगीकेम का कीमत : Fungikem 200/100/400 Price


100mg  फुनगीकेम कैप्सूल  ₹17 for one capsule
200mg  Fungikem  ₹24  for one capsule
Fungikem 400  ₹39  for one capsule


मुख्य बिंदु :  Important Points. 


  • Fungikem का रोल सभी Fungal Infection में बेहतर देखा गया है 
  • आप इसका इस्तमाल पूरी Dosage के साथ करें। 
  • इस्तमाल करने से पहले अपने डॉक्टर से सलाह जरूर ले। 
  • फुनगीकेम कैप्सूल 100 /200 /400 सभी अलग अलग Fungal Infection में चलाए जाते हैं। 

फुनगीकेम की और दवाइयाँ : Fungikem 200/100 Capsule Substitute


    दूसरी दवाएं (Substitute)
Itraconazole Capsule

Generic Name

Itrol capsule

Kusum Healthcare pvt.ltd.

Candiforce capsule

Mankind Pharmaceutical pvt.ltd.

Clobitra Capsule

Indoco Remedies Ltd. 

Irazole Capsule

Lupin Pharmaceuticals pvt.ltd.

Sporaz Capsule

Emcure Pharmaceutical Ltd.

It-Gal Capsule

Galpha Laboratories ltd.

Italase Capsule

Cipla Pharma

It-Mac Capsule

Macleods Pharmaceuticals ltd.

Itrastar Capsule

Wallace Pharma

Candistat Capsule

Merck Limted

Itrazen Capsule

Macleods Pharmaceuticals ltd

Itcon Capsule

Phonix Pharmaceuticals

Itrapex Capsule

Apex Lab Ltd.

Itaspor Capsule

Intas Pharma

Itrostred Capsule

Lefford Healthcare

Itzucia Capsule

Chemo Biotec

I-Win Capsule

Sun Pharmaceutical ind.Ltd.

पूछे जाने बाले सवाल 


Q – अगर मुझे Fungal Infection है तो कितने MG की Fungikem लेनी होगी ?

Diagnose करने के बाद ही बताया जा सकता है की Fungal Infection कितना बढ़ा हुआ है उसके बाद ही बताया जा सकता है की आपको कौन से MG की फुनगीकेम कैप्सूल खानी पड़ेगी। इसके लिए आप अपने डॉक्टर से सम्पर्क करें। 

Q – क्या फंगल इन्फेक्शन में फुनगीकेम कैप्सूल के साथ-साथ कोई क्रीम का इस्तमाल किया जा सकता है?

हां किया जा सकता है अगर आपको फंगल इन्फेक्शन की प्रॉब्लम बहुत ज्यादा है तो आप फुनगीकेम कैप्सूल्स अपने डॉक्टर से सलाह लेकर के इसके MG को बढ़ा सकते हैं या तो फिर इसके साथ आप कोई भी फंगल इन्फेक्शन का क्रीम इस्तेमाल कर सकते हैं

Q – नाखुनो बाली बीमारी को फुनगीकेम पूरी तरह ख़त्म कर देती है ? 

हां, अगर फुनगीकेम कैप्सूल्स का इस्तेमाल पूरी खुराक के साथ की जाए तो Onicomycosis की बीमारी जड़ से खत्म की जा सकती है।

Q – फुनगीकेम कैप्सूल का इस्तमाल बच्चों में किया जा सकता है ?

सभी दवाओं का खुराक बीमारी की जटिलता और मरीज के वजन पर निर्भर करता है बेहतर होगा आप अपने नजदीकी डॉक्टर से सलाह लें।

और पढ़ें : More for Your Health


Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *