Grilinctus Syrup in Hindi उपयोग/दुष्प्रभाव/खुराक/सामग्रियाँ

निर्माता कंपनी : Franco India

कीमत : Rs 72.40

सामग्रियाँ | उपयोग | दुष्प्रभाव | खुराक | सावधानियाँ | दूसरे ब्रांड | सवाल-जबाब

Grilinctus Syrup एक कफ सिरप है, जो एंटीहिस्टामाइन, एक्सपेक्ट्रेंट और कफ सपरसेंट के ग्रुप में आता है। ग्रिलिंक्टस सिरप मुख्य रूप से कॉमन कोल्ड और बुखार के लक्षणों में चलाई जाने वाली एक दवा है। इस दवा में एक से अधिक सक्रिय सामग्रियों का इस्तेमाल किया गया है, जो आपके खांसी को दूर करता है और आपके स्वसन प्रक्रिया को ठीक करता है। ग्रिलिंक्टस सिरप का निर्माण फ्रैंको इंडिया कंपनी के द्वारा किया जाता है। यह भारत के खांसी और खांसी में उत्पन्न लक्षणों में इस्तेमाल होने वाली बेहद चर्चित दवा मानी जाती है।

ग्रिलिंक्टस में मिली हुई सक्रिय सामग्रियां : Active ingredients in Grilinctus syrup.


Grilinctus syrup में मुख्य रूप से ऐसे सामग्रियों का इस्तेमाल किया गया है जो आपके खांसी और खांसी में उत्पन्न सभी तरह के लक्षणों को दूर करता है

  1. Chlorpheniramine malate
  2. Guaifenesin
  3. Amonium chloride
  4. Dextromethorphan

Guaifenesin :

गुआइफेनसिन एक एक्सपेक्ट्रेंट है जो 50mg/5ml किधर से ग्रीन टच में इस्तेमाल किया गया है। गुआइफेनसिन का काम हमारे श्वसन नलिकाओं से कफ को निकालना श्वसन नलिकाओं को साफ करना और संक्रमण से दूर रखने का होता है।

Amonium chloride :

अमोनियम क्लोराइड भी एक एक्सपेक्ट्रेंट जो Sputum की निकलने की प्रक्रिया को बढ़ा देता है। जिसके कारण स्वसन नलिकाए साफ होती हैं और मरीज बेहतर तरीके से सांस ले पाता है। grilinctus syrup में अमोनियम क्लोराइड का इस्तेमाल 60mg/5 ml किया गया है।

Chlorpheniramine Maleate :

यह एक एंटीहिस्टामाइन है। जिसकी मात्रा ग्रिलिंक्टस सिरप में 2.5mg/5ml का होता है। यह मुख्य रूप से एलर्जी, छींक, आंखों में पानी, नाको में खुजली उत्पन्न होने वाली समस्याओं को दूर करती है।

Dextromethorphan :

डेक्स्ट्रोमेथोर्फन मौरफिन ग्रूप का एक दवा है। ग्रीन टच में इसकी मात्रा 5mg/5ml इस्तेमाल किया गया है।

ग्रिलिंक्टस सिरप के फायदे और उपयोग : Uses and benefit of Grilinctus syrup.


grilinctus syrup में एक से अधिक सक्रिय सामग्रियों का इस्तेमाल किया गया है। इसलिए यह केवल खांसी की समस्या को दूर नहीं करती है। खांसी की समस्या के कारण उत्पन्न होने वाली और भी समस्याओं को दूर करती है। उसमें से कुछ निम्नलिखित है।

  • खांसी (Cough)
  • सामान्य जुकाम (Common cold)
  • एलर्जी  (Allergy)
  • ब्रोंकाइटिस (Bronchitis)
  • बुखार  (Fever)
  • खांसी में राहत (Cough relief)
  • सांस लेने में तकलीफ (Breathing illness)
  • आंखों में पानी आना (Watery eye)

और पढ़ें Typhoid fever | Typhoid क्या खाएं क्या नहीं

ग्रीलिंक्टस सिरप से होने वाले दुष्प्रभाव : Side effect of Grilinctus syrup.


grilinctus syrup का दुष्प्रभाव सभी व्यक्तियों में नहीं देखा गया है लेकिन कुछ ऐसे व्यक्ति हैं जिसमें ग्रिलिंक्टस सिरप का दुष्प्रभाव देखा गया है। इससे होने वाले कुछ दुष्प्रभावों को नीचे लिखा गया है। अगर आप इस दवा का इस्तेमाल करते हैं और आपको इनमें से किसी भी तरह का दुष्प्रभाव दिखे या आपके शरीर में किसी भी तरह की अस्वस्थता दिखे तो आप तुरंत इस दवा का इस्तेमाल बंद करें और अपने नजदीकी स्वास्थ्य चिकित्सक से संपर्क करें।

  • उच्च रक्तचाप (Hypertension)
  • मतली  (Nausea)
  • उल्टी (Vomiting)
  • उनींदापन (Drowsiness)
  • भूख में वृद्धि (Increase hepatitis)
  • चक्कर आना (Dizziness)
  • खुजली होना (Rash)
  • दस्त (Diarrhea)
  • एलर्जी होना (Allergy)
  • किडनी में स्टोन होना  (Kidney stone)
  • कमजोरी (Weakness)
  • थकान (Tiredness)

यह सभी दुष्प्रभाव सभी लोगों में अलग-अलग हो सकती है। कुछ ऐसे दुष्प्रभाव हो सकते हैं जिसका वर्णन ऊपर नहीं किया गया है।

और पढ़ें खाँसी का घरेलु उपचारखाँसी का हेमिओपथिक दवा

ग्रिलिंक्टस सिरप का खुराक : Doses of Grilinctus syrup in Hindi.


इस दवा की कोई फिक्स खुराक नहीं है। यह दवा की खुराक मुख्य रूप से व्यक्ति के वजन, उम्र और बीमारी की जटिलता पर निर्भर करता है। इस सिरप का इस्तेमाल करने से पहले आप अपने नजदीकी स्वास्थ्य चिकित्सक से संपर्क जरूर करें। ग्रिलिंक्टस सिरप की खुराक अगर छूट गई हो तो याद आने पर आप इसकी खुराक इस्तेमाल कर सकते हैं। लेकिन जब दूसरी खुराक का समय आ जाए तब छुट्टी की खुराक का इस्तेमाल ना करने की सलाह दी जाती है।

सभी दवाइयों की खुराक बीमारी की जटिलता और व्यक्ति के उम्र तथा वजन पर निर्भर करता है। अगर बीमारी की जटिलता ज्यादा होगी तो दवाइयों की खुराक को भी बढ़ाया जा सकता है। अगर किसी व्यक्ति का वजन ज्यादा होता है उस संदर्भ में भी दवाइयों की खुराक को बढ़ाया जा सकता है। कभी-कभी बीमारियों की जटिलता और व्यक्ति के वजन को देखते हुए दवाइयों की खुराक को दोगुना करना पड़ सकता है। इसके लिए जरूरी है कि दवाइयों के संपूर्ण खुराक को जानने के लिए आप अपने नजदीकी डॉक्टर से संपर्क जरूर करें।

सावधानियां : precaution.


  • प्रशिक्षित चिकित्सक के द्वारा दिए गए निर्देशों के अनुसार ही इसकी खुराक का इस्तेमाल करें।
  • अगर आपको इसके किसी भी सामग्री से एलर्जी या दुष्प्रभाव है तो आप इस दवा का इस्तेमाल ना करें इस सिरप का इस्तेमाल खाना खाने के बाद या खाना खाने से पहले भी किया जा सकता है।
  • इस सिरप का इस्तेमाल रोजाना एक ही समय पर करने की सलाह दी जाती है।
  • सिरप को इस्तेमाल करने से पहले बोतल को अच्छी तरह से हिला लें।
  • अगर इस दवा को इस्तेमाल करने के बाद किसी भी तरह की शारीरिक अस्वस्थता दिखे तो आप इस दवा का लेना तुरंत बंद करें और अपने नजदीकी चिकित्सा से संपर्क करें।
  • ग्रिलिंक्टस सिरप को गर्भावस्था के दौरान इस्तेमाल न करने की सलाह दी जाती है।

इस दवा की दूसरे ब्रांड : Substitutes for Grilinctus syrup


ब्रांडकंपनी
Lastuss D syrupFDC
Respira D syrupGeno

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल


Q – Grilinctus syrup इस्तेमाल के बाद क्या गाड़ी चलाना सुरक्षित माना जाता है?

नहीं, ग्रिलिंक्टस सिरप इस्तेमाल करने के बाद गाड़ी चलाना सुरक्षित नहीं माना जाता है क्योंकि इस शीला के इस्तेमाल करने के बाद उघने drowsiness की समस्या हो सकती हैं।

Q – क्या गर्भावस्था में ग्रिलिंक्टस सिरप सुरक्षित माना जाता है।

नहीं, गर्भावस्था में ग्रिलिंक्टस सिरप का इस्तेमाल न करने की सलाह दी जाती है।

Q – क्या शराब के साथ इसका कोई दुष्प्रभाव देखा गया है?

हां, शराब के साथ ग्रिलिंक्टस सिरप का दुष्प्रभाव देखा गया है इसलिए शराब के साथ इस बाबा का सेवन ना करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *