डाइबिकॉन – Diabecon tablet in Hindi

निर्माता कंपनी – हिमालया ड्रग कंपनी

कीमत | सामग्रियाँ | उपयोग | खुराक | दुष्प्रभाव | सवाल-जवाब 

डाइबिकॉन (Diabecon tablet) हिमालय ड्रग कंपनी के द्वारा निर्मित एक आयुर्वेदिक दवा है। इसके निर्माण में 30 से अधिक जड़ी बूटियों का इस्तेमाल किया गया है। डाइबिकॉन मुख्यतः आपके डायबिटीज को नियंत्रण में रखता है तथा उसे खत्म करता है। (Diabecon tablet) डाइबिकॉन टैबलेट डायबिटीज के शुरुआती दौर में बेहतर काम दिखाता है। शुरुआती दौर में पाया गया ‘डायबिटीज मेलाइटस’ को डाइबिकॉन टेबलेट पूरी तरह नियंत्रण में रखता है तथा उसे खत्म करता है।

डाइबिकॉन टेबलेट की कीमत : Price of Diabecon tablet in Hindi.

Diabecon tablet₹ 80

डाइजोन टेबलेट की सामग्रियां : Ingredients in diabecon tablet in Hindi.

सामग्रियाँ  मात्रा 1 टैबलेट में
सुधा गुकुल  (Shuddha Guggul)30 mg
शिलाजीत  (Shilajit)30 mg
मेशाश्रृंगी   (Meshashringi)30 mg
मुलेठी   (Mulethi)20 mg
सतरंगी   (Saptrangi)20 mg
पिटासरा   (Pitasara)20 mg
जामुन   (Jamun)20 mg
शतावरी  (Shatavari)20 mg
पूर्णनवा  (Punarnava)20 mg
मुंडाटीका  (Mundatika)10 mg
गुडूची   (Guduchi)10 mg
कराटा  (Kairata)10 mg
गोक्षुरा (Gokshura)10 mg
भूमिया अमलाकी  (Bhumya Amlaki)10 mg
गुंभारी  (Gumbhari)10 mg
दारूहल्दी  (Daruharidra)5 mg
घृतकुमारी  (Aloe vera)5 mg
कारपासी (Karpasi)10 mg
त्रिफला (Triphala)3 mg
Powder
विडंगादि लौहम (vidangadi lauham)27 mg
सुशी (Sushi)20 mg
काली मिर्च (Black pepper)10 mg
तुलसी  (Tulsi)10 mg
इंडियन मैलो (Indian mallow)10 mg
अभ्रक भस्मा (Abhrak bhasma)10 mg
प्रवाल भस्मा (Praval Bhasma)10 mg
जंगली पालक (Jungli Palak)5 mg
वंगा भस्मा (Vanga Bhasma)5 mg
हल्दी (Turmeric)10 mg
अकीक पिष्टी (Akik pishti)  5 mg
शिंगरफ (Shingraf)5 mg
यशद भस्मा (Yashad Bhasma)   5 mg
त्रिकटु (Trikatu)5 mg

डाइबिकॉन टेबलेट का उपयोग : Uses of Diabecon tablet in Hindi.

डाइबिकॉन (Diabecon tablet) मुख्य रूप से डायबिटीज को नियंत्रण तथा खत्म करने की एक दवा है। यह मुख्यतः

ये भी जाने    मधुमेह में क्या खएं क्या नहीं 

डाइबिकॉन टैबलेट के खुराक : Doses of diabecon tablet in Hindi.

सभी दवाइयों की खुराक बीमारी की जटिलता और व्यक्ति के उम्र तथा वजन पर निर्भर करता है अगर बीमारी की जटिलता ज्यादा होगी तो दवाइयों की खुराक को भी बढ़ाया जा सकता है। अगर किसी व्यक्ति का वजन ज्यादा होता है उस संदर्भ में भी दवाइयों की खुराक को बढ़ाया जा सकता है। कभी-कभी बीमारियों की जटिलता और व्यक्ति के वजन को देखते हुए दवाइयों की खुराक को दोगुना करना पड़ सकता है। इसके लिए जरूरी है कि दवाइयों के संपूर्ण खुराक को जानने के लिए आप अपने नजदीकी डॉक्टर से संपर्क जरूर करें।

डाइबिकॉन टैबलेट2 टैबलेट  दिन में दो बारखाना खाने के 1 घंटे पहले

डाइबिकॉन टेबलेट का दुष्प्रभाव : Side effect of Diabecon tablet in Hindi.

डाइबिकॉन टेबलेट एक आयुर्वेदिक दवा है इस दवा का दुष्प्रभाव अभी तक किसी भी व्यक्ति में देखा नहीं गया है फिर भी अगर आप इस दवा का इस्तेमाल करते हैं और किसी तरह का दुष्प्रभाव दिखता है तो आप तुरंत अपने नजदीकी चिकित्सा केंद्र में संपर्क करें।

अक्सर पूछे जाने बाले सवाल

Q – डाइबिकॉन टेबलेट (Diabecon tablet) का इस्तेमाल भूखे पेट करना चाहिए या खाने के बाद?

डाइबिकॉन टेबलेट का इस्तेमाल खाने से 1 घंटे पहले करें।

Q – क्या डाइबिकॉन टेबलेट (Diabecon tablet) का इस्तेमाल सभी उम्र के लोगों पर किया जा सकता है?

हां, डाइबिकॉन टेबलेट एक आयुर्वेदिक मेडिसिन है इसलिए इस दवा का इस्तेमाल सभी उम्र के व्यक्तियों पर किया जा सकता है।

Q – क्या डाइबिकॉन टेबलेट गर्भवती महिलाओं में सुरक्षित है?

किसी भी दवा का इस्तेमाल गर्भवती महिलाओं पर उचित नहीं माना जाता है। किसी भी दवा का इस्तेमाल गर्भवती महिलाओं पर करने से पहले आप अपने डॉक्टर से सलाह जरूर लें।

Q – क्या इस दवा से डायबिटीज की बीमारी हमेशा के लिए खत्म हो जाती है?

यह बीमारी की गंभीरता पर निर्भर करता है। अगर शुरुआती दौर में इस दवा का इस्तेमाल किया जाए तो इस दवा के जरिए डायबिटीज को नियंत्रित किया जा सकता है।


0 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Stay Home - Stay Safe

COVID-19