Himalaya Pilex Ointment Hindi लगाने का सही तरीका/सामग्रियाँ/दुष्प्रभाव | Only HEALTHY Advice-Health Expert

Himalaya Pilex Ointment Hindi

निर्माता कंपनी – Himalaya drug 

सामग्रियाँ | उपयोग | खुराक  | लगाने का सही तरीका | दुष्प्रभाव

हिमालय पाइलेक्स ऑइंटमेंट (Himalaya Pilex Ointment Hindi) एक आयुर्वेदिक दवा है। जिसका निर्माण हिमालया ड्रग कंपनी के द्वारा किया जाता है। हिमालय पाइलेक्स दो प्रारूपों में दवा दुकानों में उपलब्ध है Himalaya Pilex Ointment और Himalaya pilex tablet. हिमालय पाइलेक्स ऑइंटमेंट दोनो तरह के बवासीर (खूनी और वादी बवासीर) के समस्या को खत्म करने में मदद करती है। यह ऑइंटमेंट बबासीर के कारण उत्पन दर्द,जलन,बेचैनी इत्यादि को ख़त्म करने में मदद करता है। अगर ऑइंटमेंट के साथ टैबलेट का भी इस्तमाल किया जाए तो ये दोनों दवाओं की छमता और असर दोगुनी हो जाती है। जिससे बबासीर की सभी समस्या को ख़त्म करने में आसानी होती है।

और पढ़ें  अलोवेरा के फायदे और नुकसान 

बवासीर किसे कहते हैं? : What is Piles in Hindi?


मलद्वार के अंतिम भाग की शिराओं के सूजने, फूलने अथवा बढ़ जाने को बवासीर कहा जाता है। इसी फूली हुई मलद्वार को मस्सा कहा जाता है। इसका आकार मटर के दाने जैसा फैला हुआ होता है अधिक फुली हुई मस्सों का आकार मटर के दाने से भी बड़े हो सकता हैं। बवासीर रोग में कभी तो एक ही मस्सा होता है और कभी एक से अधिक मस्से आपस में जुड़े हुए दिखाई पड़ते हैं।

और पढ़ें  सहजन के आश्चर्यजनक फायदे

यह मस्से यदि मलद्वार के बाहरी भाग में रहे तो बहिर्बली (External piles) या बादी बवासीर और यदि मलद्वार के भीतरी भाग में रहे तो अंतवर्ली (Internal piles) या खूनी बवासीर कहा जाता है। यह मस्से जब फटते हैं तब इन से रक्त बहने लगता है। प्रयह भीतरी मस्से ही अधिक फटते हैं रक्त शराबी मस्सों को खूनी बवासीर कहा जाता है। जिन मस्सों में खून नहीं बहता परंतु केवल दर्द, जलन अथवा खुजली के लक्षण ही प्रकट होते हैं उन्हें बादी बवासीर कहा जाता है। 

बवासीर, पाइल्स या हेमोरॉयड्स जिन लोगों में यह बीमारी उत्पन्न होती है उन लोगों के शरीर में अक्सर अस्वस्थता बनी रहती है।

और पढ़ें  पुरानी खाँसी की घरेलु उपचार

पाइलेक्स ऑइंटमेंट में मिली हुई सामग्रियां : Ingredients in Himalaya Pilex Ointment Hindi. 


सामग्रियाँ मात्रा
लज्जालु (Lajjalu) 5%
भृंगराज (Bhrinraj) 3%
निर्गुन्डी (Nirgundi) 3%
जेरगुल (Zergul) 2%
कर्पूरा (Karpura) 1.23%
टंकण (Tankan) 1%

हिमालय पाइलेक्स ऑइंटमेंट का उपयोग : Benefits of Himalaya Pilex Ointment Hindi.


हिमालय पाइलेक्स ऑइंटमेंट दोनों तरह के बवासीर को खत्म करने में मदद करता है। बाबासीर के कारण होने वाले दर्द में भी यह उपयोगी साबित होता है। खूनी बवासीर में खून गिरने की समस्या तथा दर्द को खत्म करता है। और बादी बवासीर में मस्से को सुखाने में तथा उससे उत्पन्न दर्द को खत्म करने में मदद करता है।

और पढ़ें    बवासीर के घरेलु उपचार 

हिमालय पाइलेक्स ऑइंटमेंट की खुराक : Dosage of Himalaya Pilex Ointment.


पाइलेक्स ऑइंटमेंट (Himalaya Pilex Ointment) लगाने की मात्रा बच्चों में अलग और व्यासको में अलग होती है। इस ऑइंटमेंट की अधिकतम मात्रा 1 दिन में 2 से 3 बार तक की हो सकती है।

सभी दवाइयों की खुराक बीमारी की जटिलता और व्यक्ति के उम्र तथा वजन पर निर्भर करता है। अगर बीमारी की जटिलता ज्यादा होगी तो दवाइयों की खुराक को भी बढ़ाया जा सकता है। अगर किसी व्यक्ति का वजन ज्यादा होता है। उस संदर्भ में भी दवाइयों की खुराक को बढ़ाया जा सकता है। कभी-कभी बीमारियों की जटिलता और व्यक्ति के वजन को देखते हुए दवाइयों की खुराक को दोगुना करना पड़ सकता है। इसके लिए जरूरी है कि दवाइयों के संपूर्ण खुराक को जानने के लिए आप अपने नजदीकी डॉक्टर से संपर्क जरूर करें।

और पढ़ें  विटामिन डी की पूरी जानकारी

हिमालय पिलेक्स ऑइंटमेंट की कीमत : Price of Himalaya Pilex Ointment.


Himalaya Pilex ointment  30 gm  Rs 140

हिमालय पिलेक्स ऑइंटमेंट लगाने का सही तरीका : How to use Himalaya Pilex Ointment Hindi.


यह ऑइंटमेंट्स सभी तरह के बाबासीर के लिए उपयोगी माना जाता है इस ऑइंटमेंट के इस्तेमाल से बवासीर के कारण उत्पन्न दर्द जलन और खुजली को कम करने तथा खत्म करने में मदद करती है।

  • हिमालय पाइलेक्स ऑइंटमेंट का इस्तेमाल बीमारी की जटिलता पर निर्भर करता है। अगर बाबासीर की गंभीरता ज्यादा है। तो इस ऑइंटमेंट का इस्तेमाल दो से तीन बार भी किया जा सकता है।
  • इस्तेमाल करने से पहले उस स्थान को अच्छी तरीके से साफ कर लें। उसके बाद इस ऑइंटमेंट का हल्का मात्रा लेकर बाबासीर के बाहरी मस्सों पर अच्छी तरह से लगा लें।
  • इस ऑइंटमेंट का इस्तेमाल मल त्यागने से पहले और मल त्यागने के बाद करने की सलाह दी जाती है।
  • अगर आप दिन में 5 बार मल त्याग करते हैं। तो इसका इस्तेमाल 5 बार मल त्यागने के बाद करने की सलाह दी जाती है।
  • इस ऑइंटमेंट के साथ अगर आप Himalaya Pilex tablet का इस्तेमाल करते हैं। तो इसके क्षमता और भी ज्यादा बढ़ जाती है।

और पढ़ें    ठीक कर देगा ये High blood pressure को

हिमालय पाइलेक्स ऑइंटमेंट के दुष्प्रभाव : Side effects of Himalaya Pilex Ointment Hindi.


हिमालय पाइलेक्स ऑइंटमेंट (Himalaya Pilex Ointment Hindi) एक आयुर्वेदिक मेडिसिन है। इसलिए इसका दुष्प्रभाव अभी तक किसी भी व्यक्ति में देखने को नहीं मिला है। अगर आप इस ऑइंटमेंट का इस्तेमाल करते हैं और आपने किसी भी तरह का दुष्प्रभाव देखता है। तो आप तुरंत अपने डॉक्टर से संपर्क करें।

और पढ़ें    ऐसे पहचाने High blood pressure को

अक्सर पूछे जाने बाले सवाल


Q – Himalaya Pilex Ointment को कुछ खाने के बाद इस्तेमाल करना चाहिए या खाली पेट इस्तेमाल करना चाहिए?

हिमालय पाइलेक्स ऑइंटमेंट का इस्तेमाल कुछ खाने के बाद करें।

Q – हिमालय पाइलेक्स ऑइंटमेंट गर्भवती महिलाओं के लिए सुरक्षित है? 

हाँ, हिमालय पाइलेक्स ऑइंटमेंट गर्भवती महिलाओं के लिए सुरक्षित है। जब तक इसकी अत्यधिक जरूरत न हो इसका इस्तमाल न करें और इस दवा का इस्तेमाल करने से पहले आप अपने नजदीकी डॉक्टर से संपर्क जरूर करें। 

Q – क्या Himalaya Pilex Ointment स्तनपान कराने वाली महिलाएं इस्तेमाल कर सकती हैं?

हिमालय पाइलेक्स ऑइंटमेंट का इस्तेमाल स्तनपान के द्वारा किया जा सकता है। इसका इस्तेमाल करने से पहले आप अपना नजदीक के डॉक्टर से परामर्श जरूर करें। 

आपके स्वस्थ से संबंधित और जानकारियाँ



0 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *