मेरोपेनम इंजेक्शन (Meropenem injection) एक एंटीबायोटिक है जो कारवापेनम ग्रुप का सदस्य है। मेरोपेनम मुख्य रूप से बैक्टीरिया से उत्पन्न हुए जटिल बीमारियों में इस्तेमाल की जाने वाली एक एंटीबायोटिक है। इस इंजेक्शन का इस्तेमाल मुख्यतः जटिल बैक्टीरियल दिमागी बुखार, निमोनिया, जटिल मूत्रमार्ग का संक्रमण, त्वचा संक्रमण इत्यादि में इस्तेमाल की जाती है। मेरोपेनम इंजेक्शन मुख्य रूप से नसों (Intravenous) में इस्तेमाल की जाने वाली एक इंजेक्शन है।

और पढ़ें  Monocef injection Dose

इंजेक्शंस दो प्रकार के होते हैं। नसों में इस्तेमाल की जाने वाली इंजेक्शन (intravenous ) और मांसपेशियों में इस्तेमाल की जाने वाली इंजेक्शन (intramuscular)। कुछ ऐसे इंजेक्शन भी होते हैं जिसका इस्तेमाल मांसपेशियों के साथ-साथ नसों में भी किया जा सकता है।

और पढ़ें  rabeprazole & domperidone

सभी एंटीबायोटिक केवल बैक्टीरियल संक्रमण में ही काम करता हैं। अगर किसी भी एंटीबायोटिक का इस्तेमाल वायरल संक्रमण या वायरल बुखार या फंगल संक्रमण में किया जाए तो उस एंटीबायोटिक का परिणाम वहां पर नहीं दिखेगा।

और पढ़ें  Ceftriaxone injectin | Azithromycin Dosage

मेरोपेनम इंजेक्शंस का उपयोग : Uses of Meropenem injection in Hindi.

  • बैक्टीरियल दिमागी बुखार (Bacterial meningitis)
  • बक्टेरियाई त्वचा संक्रमण (Bacterial skin infection) :
  • बैक्टीरियल पेट का संक्रमण (Bacterial Intra-abdominal infection) :
  • जटील मूत्र मार्ग संक्रमण (Complicated urinary tract infection) :
  • निमोनिया (Pneumonia) :

मेरोपेनम इंजेक्शन एंटीबायोटिक है जिसका इस्तेमाल मुख्य रूप से बैक्टीरिया से उत्पन्न हुए संक्रमण में किया जाता है। कुछ बैक्टीरियल संक्रमणो का वर्णन नीचे किया गया है।

और पढ़ें  cefpodoxime Dogase | Cefixime Dogase

बैक्टीरियल दिमागी बुखार (Bacterial meningitis) :

मेनिनजाइटिस मेनिन्जेस को प्रभावित करता है, मस्तिष्क और रीढ़ की हड्डी को घेरने वाली झिल्ली, मस्तिष्कमेरु द्रव और केंद्रीय तंत्रिका तंत्र (CNS) की रक्षा करते हैं।

बैक्टीरिया के कई प्रकार बैक्टीरिया मेनिन्जाइटिस का कारण बन सकते हैं, जिसमें स्ट्रेप्टोकोकस न्यूमोनिया (एस निमोनिया) और ग्रुप बी स्ट्रेप्टोकोकस शामिल हैं। अन्य प्रकार के मैनिंजाइटिस में वायरल, परजीवी, फंगल और गैर-संक्रामक मैनिंजाइटिस शामिल हैं, लेकिन बैक्टीरिया का प्रकार सबसे गंभीर है।

2006 में, बैक्टीरियल मैनिंजाइटिस के लिए मृत्यु दर 34 प्रतिशत थी और 50 प्रतिशत रोगियों ने ठीक होने के बाद दीर्घकालिक प्रभाव का अनुभव किया।

और पढ़ें  Amikacin Dosage | Allegra tablet

बैक्टीरियल त्वचा संक्रमण (Bacterial skin infection) :

meropenem injection
 meropenem injection

आम त्वचा संक्रमण में सेल्युलाइटिस, एरिज़िपेलस, इम्पेटिगो, फोलिकुलिटिस, और फ़्यूरुनकल्स और कार्ब्यूनल्स शामिल हैं। सेल्युलाइटिस डर्मिस और चमड़े के नीचे के ऊतकों का एक संक्रमण है जिसमें खराब सीमांकित सीमाएं हैं और आमतौर पर स्ट्रेप्टोकोकस या स्टेफिलोकोकस प्रजातियों के कारण होता है।

और पढ़ें   हिमालया confido tablet

बैक्टीरियल संक्रमण

बैक्टीरियल पेट का संक्रमण (Intra-abdominal infection) :

जटिल इंट्रा-पेट में संक्रमण रुग्णता का एक महत्वपूर्ण कारण है और अक्सर खराब रोग का कारण बनता है, विशेष रूप से उच्च जोखिम वाले रोगियों में।

इंट्रा-एब्डोमिनल इन्फेक्शन (IAI) में कई पैथोलॉजिकल स्थितियां शामिल होती हैं, जिनमें अपूर्ण एपेंडिसाइटिस से लेकर फेकल पेरोनोनिटिस शामिल हैं। IAI को सरल और जटिल में वर्गीकृत किया गया है।

सीधी आईएआई में संक्रामक प्रक्रिया में केवल एक ही अंग शामिल होता है और पेरिटोनियम के लिए आगे नहीं बढ़ता है। इस तरह के संक्रमण वाले मरीजों को अकेले या तो शल्य चिकित्सा से या एंटीबायोटिक दवाओं के साथ प्रबंधित किया जा सकता है। जब संक्रमण का ध्यान शल्य चिकित्सा द्वारा प्रभावी ढंग से व्यवहार किया जाता है, तो 24 घंटे पेरिऑपरेटिव प्रोफिलैक्सिस पर्याप्त होता है। तीव्र डायवर्टीकुलिटिस और तीव्र एपेंडिसाइटिस के कुछ रूपों सहित इंट्रा-पेट के संक्रमण वाले मरीजों को गैर-रूप से प्रबंधित किया जा सकता है।

और पढ़ें   खाँसी की होम्योपैथिक दवाइयाँ

जटील मूत्र मार्ग संक्रमण (Complicated urinary tract infection) :

सबसे आम यूटीआई मुख्य रूप से महिलाओं में होता है और मूत्राशय और मूत्रमार्ग को प्रभावित करता है। मूत्राशय का संक्रमण (cystitis)। इस प्रकार का यूटीआई आमतौर पर एस्चेरिचिया कोलाई (E-Coli) के कारण होता है, एक प्रकार का बैक्टीरिया जो आमतौर पर जठरांत्र (GRE) पथ में पाया जाता है। हालांकि, कभी-कभी अन्य बैक्टीरिया जिम्मेदार होते हैं।

और पढ़ें  Health OK टैबलेट | A to Z टैबलेट

निमोनिया (Pneumonia) :

निमोनिया एक संक्रमण है जो हवा के थक्के को एक या दोनों फेफड़ों में प्रवाहित करता है। वायु की थैलियां द्रव या मवाद से भर सकती हैं, जिससे कफ या मवाद, बुखार, ठंड लगना और सांस लेने में कठिनाई होती है। बैक्टीरिया, वायरस और कवक सहित विभिन्न प्रकार के जीव, निमोनिया का कारण बन सकते हैं।

और पढ़ें  मधुमेह के अचूक घरेलु उपचार 

मेरोपेनम इंजेक्शन के दुष्प्रभाव : Side effect of Meropenem injection in Hindi.

मेरोपेनम इंजेक्शन के एक से अधिक दुष्प्रभाव देखे गए हैं। हालांकि नेहरू के नाम इंजेक्शंस का दुष्प्रभाव सभी व्यक्तियों पर देखा नहीं गया है लेकिन जिन व्यक्तियों पर इस इंजेक्शंस का दुष्प्रभाव देखा गया है उनमें निम्नलिखित समस्याएं उत्पन्न हो सकती हैं। मेरोपेनम इंजेक्शन का इस्तेमाल हमेशा किसी प्रशिक्षित डॉक्टर से ही करवाने की सलाह दी जाती है। अगर आपको कारवापेनम समूह के किसी भी दवा से पहले से एलर्जी है तो मेरोपेनम इंजेक्शन का इस्तेमाल ना करवाने की सलाह दी जाती है।

  • उल्टी (Vomiting)
  • मछली (Nausea)
  • सर दर्द (Headache)
  • त्वचा पर लाल चकत्ते  (Skin rashes)
  • खून की कमी (Anaemia)
  • दस्त (Diarrhoea)
  • उलझन (Confusion)
  • चक्कर आना (Dizziness)
  • पसीना आना (Sweating)
  • कब्ज (Constipation)
  • अर्टीकारिआ (Urticaria)
  • वर्टिगो (Vertigo)
  • नस में सूजन (Inflammation in vein)
  • नसों में जलन 
  • धुंधलापन

और पढ़ें   ठीक कर देगा High blood pressure को

मेरोपेन इंजेक्शन की खुराक : Doses of meropenem injection in Hindi.

Meropenem injection की खुराक बीमारी की जटिलता पर निर्भर करती है। सभी बीमारियों में इस इंजेक्शंस की खुराक अलग-अलग चलाई जाती है। यहां पर मुख्य रूप से अधिकतम खुराक की जानकारी दी जा रही है। इंजेक्शन का इस्तेमाल बताया गया अधिकतम खुराक से ज्यादा नहीं करने की सलाह दी जाती है। अगर आप इस इंजेक्शन का इस्तेमाल बताएं गई अधिकतम खुराक से ज्यादा करते हैं तो इसके गंभीर दुष्परिणाम देखे गए हैं।

Meropenem injection की अधिकतम खुराक  40mg/kg/8 hr.

ऊपर मेरोपेन इंजेक्शन की अधिकतम खुराक के बारे में जानकारी दी गई है। हालांकि इस इंजेक्शन का इस्तेमाल सभी बीमारियों में अलग-अलग खुराक में की जाती है।

  • नोट : बिना किसी डॉक्टर सलाह के इस इंजेक्शन का इस्तेमाल आप अपने घर में ना करें।
  • इस इंजेक्शन का इस्तेमाल डॉक्टर के निरीक्षण में ही करवाने की सलाह दी जाती है।

छुट्टी हुई खुराक : अगर दवा की खुराक छूट जाती है और कुछ समय बाद याद आने पर छुट्टी हुई खुराक का इस्तेमाल किया जा सकता है। लेकिन दूसरी खुराक का समय आने पर उस छुट्टी हुई खुराक का इस्तेमाल नहीं किया जा सकता है। इस दवा का दोनों खुराक एक समय पर इस्तेमाल ना करने की सलाह दी जाती है।

और पढ़ें  पुरानी खाँसी की घरेलु उपचार

अधिक खुराक : अधिक खुराक लेने पर इस दवा का दुष्प्रभाव देखा गया है। इसलिए इस दवा का इस्तेमाल अधिक खुराक में ना करें। अगर किसी वजह से इस दवा का अधिक खुराक लिया गया हो तो आप तुरंत अपने नजदीकी डॉक्टर से संपर्क करें।

सभी दवाइयों की खुराक बीमारी की जटिलता और व्यक्ति के उम्र तथा वजन पर निर्भर करता है। अगर बीमारी की जटिलता ज्यादा होगी तो दवाइयों की खुराक को भी बढ़ाया जा सकता है। अगर किसी व्यक्ति का वजन ज्यादा होता है उस संदर्भ में भी दवाइयों की खुराक को बढ़ाया जा सकता है। कभी-कभी बीमारियों की जटिलता और व्यक्ति के वजन को देखते हुए दवाइयों की खुराक को दोगुना करना पड़ सकता है। इसके लिए जरूरी है कि दवाइयों के संपूर्ण खुराक को जानने के लिए आप अपने नजदीकी डॉक्टर से संपर्क जरूर करें।

और पढ़ें  ऐसे पहचाने High blood pressure को

मैरोपिनम इंजेक्शन के दूसरे ब्रांड : Substitute of meropenem injection

दूसरा ब्रांडकंपनी नाम
Mero injectionAristo
Meriwok injectionWockhrdi
ICUBac injectionSandoz
Merosure InjectionAlkem Pharma
Meromac injectionMacleods
Merotec injectionZuventus
Esblanem InjectionGlaxosmithkline
Vivem injectionIntas
Carbapen-MBlue cross
M-Nem InjectionSanofi aventis
Merocrit injectionCipla
Merom Injection Integra

मैरोपिनम इंजेक्शन की कीमत : Price of meropenem injection in Hindi

 इस इंजेक्शन की कीमत सभी कंपनियों में अलग-अलग हो सकते हैं।

Meropenem 1gm injection Rs 1400

सावधानियां : Precaution

  • मैरोपिनम इंजेक्शन का इस्तेमाल बिना किसी प्रशिक्षित डॉक्टर सलाह के बगैर ना करें।
  • इस इंजेक्शन का इस्तेमाल डॉक्टर के निगरानी में ही करवाने की सलाह दी जाती है।
  • इस इंजेक्शन का इस्तेमाल केवल नसों में करने की सलाह दी जाती है।
  • मैरोपिनम इंजेक्शन का इस्तेमाल नसों में बहुत धीरे-धीरे करने की सलाह दी जाती है।
  • अगर इस इंजेक्शन को लगाते समय मरीज को किसी भी तरह की बेचैनी महसूस हो तो इस इंजेक्शंस को उसी समय पूरा न देने की सलाह दी जाती है।
  • इंजेक्शन लग जाने के बाद मरीज को डॉक्टर के सामने 15 से 20 मिनट तक बैठने की सलाह दी जाती है।
  • अगर कारवापेनम समूह के किसी भी दवा से पहले से आपको एलर्जी है तो मैरोपिनम का इस्तेमाल ना करने की सलाह दी जाती है।

अपने स्वस्थ के लिए और पढ़ें

cobadex-czs-in-hindi

Cobadex czs in Hindi उपयोग/खुराक/दुस्प्रभाव

Cobadex czs in Hindi   उपयोग | खुराक | दुस्प्रभाव | सावधानियाँ | दूसरे ब्रांड Cobadex CZS Tablet का उपयोग ...
Read More
ovral g tablet in Hindi

Ovral g tablet in Hindi सही इस्तमाल/उपयोग/दुस्प्रवाह

ovral g tablet in Hindi. ओवेरल जी टैबलेट मेनोपॉज़ के अल्पकालिक रूपांतरों को रोकता है या कम करता है। यह ...
Read More
mox 500mg capsule

Mox 500mg capsule in Hindi खुराक/उपयोग/दुष्प्रभाव

इस दवा का उपयोग कान और नाक में संक्रमण, त्वचा के संक्रमण, श्वसन तंत्र के निचले हिस्से में संक्रमण, मूत्र ...
Read More
deflazacort tablet in hindi

Deflazacort tablet in Hindi उपयोग/खुराक/दुस्प्रभाव/सावधानियाँ

Deflazacort tablet in Hindi डिफ्लैजाकोर्ट टैबलेट दवाओं के एक समूह से संबंधित है जिसे कॉर्टिकोस्टेरॉइड्स के रूप में जाना जाता ...
Read More
candid b cream

Candid B cream उपयोग/खुराक/दुस्प्रभाव/सावधानियाँ

कैंडिड-बी क्रीम (Candid B cream) एक व्यापक एंटी-फंगल क्रीम है जिसका उपयोग फंगल संक्रमण और त्वचा की जलन को प्रबंधित ...
Read More
Meftal spas tablet

Meftal spas tablet उपयोग/खुराक/दुस्प्रभाव

Meftal spas tablet एक सूजन विरोधी दर्द निवारक और मांसपेशियों को आराम देने वाला है। इसका उपयोग भारी मासिक धर्म ...
Read More
unwanted 72 tablet

Unwanted 72 tablet: उपयोग/खुराक/दुस्प्रभाव/सावधानियाँ

अनवांटेड 72 टैबलेट (unwanted 72 tablet) महिलाओं द्वारा इस्तेमाल की जाने वाली आपातकालीन मौखिक गर्भनिरोधक गोलियां हैं। असुरक्षित यौन संबंध ...
Read More
anafortan tablet

Anafortan tablet : उपयोग/खुराक/दुस्प्रभाव/सावधानियाँ

Anafortan tablet 25mg / 300mg Tablet मुख्य रूप से पीठ दर्द और पेट में ऐंठन, दर्द से पीड़ित रोगियों के ...
Read More
levofloxacin tablet

levofloxacin tablet उपयोग/खुराक/दुस्प्रभाव/सावधानियाँ

लिवोफ़्लॉक्सासिन टैबलेट (Levofloxacin tablet) एक एंटीबायोटिक दवा है, जिसका उपयोग बैक्टीरियल साइनसाइटिस, निमोनिया, मूत्र पथ के संक्रमण और प्रोस्टेटाइटिस सहित ...
Read More
asthalin syrup

Asthalin syrup in Hindi उपयोग/खुराक/दुस्प्रभाव/सावधानियाँ

Asthalin Syrup 2 mg सिरप एक ब्रोन्कोडायलेटर दवा है जो फेफड़ों की ओर जाने वाले वायुमार्ग की मांसपेशियों को आराम ...
Read More
weight gain tablets

Top Weight gain tablets in Hindi/वजन बढ़ाने की दवा

वजन में अप्रत्याशित वृद्धि किसी के लिए भी सुरक्षित नहीं माना जा सकता है। कुछ ऐसी दवाइयां (weight gain tablets) ...
Read More
Avil tablet

Avil tablet in Hindi उपयोग/खुराक/दुस्प्रभाव

Avil tablet in Hindi उपयोग | खुराक | दुस्प्रभाव | दूसरे ब्रांड एलर्जी हमारे शरीर की एक स्वाभाविक प्रक्रिया मानी ...
Read More
avil injection

Avil injection उपयोग/खुराक/दुस्प्रभाव

Avil injection उपयोग | खुराक | दुस्प्रभाव | दूसरे ब्रांड एलर्जी हमारे शरीर की एक स्वाभाविक प्रक्रिया मानी जाता है। ...
Read More
Darolac aqua in Hindi

Darolac aqua in hindi खुराक/दुस्प्रभाव/दूसरे ब्रांड/कीमत

डारोलैक (Darolac aqua in hindi) डारोलैक (Darolac aqua in Hindi) एक प्रोबायोटिक है जो शिशुओं, बच्चों से लेकर व्यस्को में ...
Read More
dulcolax tablet in Hindi

Dulcolax tablet in Hindi उपयोग/खुराक/दुस्प्रवाह

दुलकोलैक्स (Dulcolax tablet) एक रेचक (laxatives) दवा है। जो कब्ज की समस्या को खत्म करता है। दुलकोलैक्स हमारे आंतों के ...
Read More
dulcoflex tablet in Hindi

Dulcoflex tablet in Hindi उपयोग/खुराक/सामग्री

दुलकोफ्लेक्स (dulcoflex tablet) एक रेचक (laxatives) दवा है। जो कब्ज की समस्या को खत्म करता है। दुलकोफ्लेक्स हमारे आंतों के ...
Read More
tufpro suspension in Hindi

Tufpro suspension in Hindi उपयोग/खुराक/सामग्री

टुफ्प्रो (Tufpro suspension in hindi) टुफ्प्रो (Tufpro suspension in Hindi) एक प्रोबायोटिक है जो शिशुओं, बच्चों से लेकर व्यस्को में ...
Read More
Entroflora suspension in hindi

Entroflora suspension in Hindi उपयोग/खुराक/दुस्प्रभाव

एंट्रोफ्लोरा (Entroflora suspension in hindi) एंट्रोफ्लोरा (Entroflora suspension in Hindi) एक प्रोबायोटिक है जो शिशुओं, बच्चों से लेकर व्यस्को में ...
Read More

0 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Stay Home - Stay Safe

COVID-19