सहजन के आश्चर्य जनक फायदे- Drumstick Benefits Hindi

Drumstick Benefits Hindi-सहजन के आश्चर्य जनक फायदे

मुनगे के सभी फायदे। : Drumstick Benefits Hindi

Drumstick/Sahajan के पौधे के जड़े, तने के छाल, पत्तियां, फूल, फल, बीज सभी कुछ एक न्यूट्रिशन का बेहतर श्रोत माना जाता है। अफ्रीकन देशों में इसे माताओं का सबसे अच्छा दोस्त और पश्चिमी देशों में इसे ‘न्यूट्रीशन डायनामाइट’ के रूप से जाना जाता है। 100 से भी अधिक तारीको से इसका उपयोग पोषण के लिए होता है। मुनगे की फली से जहां स्वादिस्ट शब्जी बनती है वही इसे भून कर खाने से मूंगफली जैसा स्वाद देता है। इसके के बीज से तेल बनती है वहीं छाल, पत्ती और जड़ से आयुर्वेदिक दवाइयां और तने, फूल, पत्तियों से खाद्य तेल बनता है।

मुनगे का इस्तमाल 300 से भी अधिक बीमारियों के उपचार में किया जाता है। मुनगे का फल, पत्तियां, फूल, जड़, गोंद मुनगे के सभी जीचों का इस्तमाल 300 से भी अधिक बिमारियों में किया जाता है।

और पढ़ें  एलो वेरा के फायदे और नुकशान 

100 ग्राम मुनगे की पत्तियों में फायदे : Drumstick Benefits in 100gms leaves.


दही से 9 गुना अधिक प्रोटीन 


अगर आप 100 ग्राम पत्तियों को सूखा कर और पीस कर इसका इस्तमाल खाने में करते हैं तो आपको इससे दही से 9 गुना ज्यादा प्रोटीन की मात्रा आपके शरीर को मिलेगी।

संतरे से 7 गुना ज्यादा विटामिन सी 


अगर आप 100 ग्राम पत्तियों को सूखा कर और पीस कर इसका इस्तमाल खाने में करते हैं तो आपको इससे संतरे से 7 गुना ज्यादा विटामिन सी मात्रा आपके शरीर को मिलेगी।

गाजर से 4 गुना ज्यादा विटामिन ए 


अगर आप 100 ग्राम पत्तियों को सूखा कर और पीस कर इसका इस्तमाल खाने में करते हैं तो आपको इससे गाजर से 4 गुना ज्यादा विटामिन ए की मात्रा आपके शरीर को मिलेगी।

केले से 15 गुना ज्यादा पोटासियम 


अगर आप 100 ग्राम पत्तियों को सूखा कर और पीस कर इसका इस्तमाल खाने में करते हैं तो आपको इससे केले से 15 गुना ज्यादा पोटासियम की मात्रा आपके शरीर को मिलेगी।

पालक से 25 गुना ज्यादा आयरन


अगर आप 100 ग्राम पत्तियों को सूखा कर और पीस कर इसका इस्तमाल खाने में करते हैं तो आपको इससे पालक से 25 गुना ज्यादा आयरन की मात्रा आपके शरीर को मिलेगी।

और दूध से 17 गुना ज्यादा कैल्शियम 


अगर आप 100 ग्राम पत्तियों को सूखा कर और पीस कर इसका इस्तमाल खाने में करते हैं तो आपको इस दूध से 17 गुना ज्यादा कैल्शियम की मात्रा आपके शरीर को मिलेगी।

यहां पर आप जानेंगें। ……… 

  • मुनगे के सभी फायदे। : drumstick benefits
  • मुनगे के बीज से पानी का शुद्धिकरण।  
  • मुनगा बच्चों के लिए बेहतर कैसे है। 
  • मुनगा महिलाओं के लिए कैसे फायदेमंद है। : drumstick benefits in female

मुनगे/drumstick के बीज से पानी का शुद्धिकरण।  


आज के समय में शुद्ध पानी  मिलना बहुत हीं मुश्किल है। मुनगे के बीज के चूर्ण से पानी को शुद्ध किया जा सकता है। अगर 1 लीटर पानी में मुनगे के कुछ बीजों को सूखा कर उसका चूर्ण बना कर 1 लीटर पानी में डाल दिया जाये तो बो पानी शुद्ध हो जायेगा और आप उस पानी का इस्तमा बहुत ही आसानी से कर पाएंगे

सहजन बच्चों के लिए बेहतर कैसे है। : Drumstick Benefits in children.


मुनगे की पत्तियां शिशुओ और बढ़ते बच्चों के लिए टॉनिक के सामान्य है। अगर मुनगे के पत्तियों को सूखा कर उसका चूर्ण बना लिया जाये और बच्चों को उसे दूध या पानी में मिला कर दिया जाये तो बो बच्चो के लिए एक टॉनिक के रूप काम करेगी और बच्चें हमेश स्वस्थ रहेंगे।

इसके पत्तियों के 25 ग्राम चूर्ण से

बच्चों को 42 प्रतिसत प्रोटीन
25 प्रतिसत कैल्शियम
6 प्रतिसत मैग्नेशियम
74 प्रतिशत आयरन
41 प्रतिशत पोटेशियम
272 प्रतिशत विटामिन ए
22 प्रतिसत विटामिन सी  की पूर्ति उसके शरीर में हो जाती है।

कैल्सियम की मात्रा 25 प्रतिशत से ज्यादा होने के कारण अगर आप इसके पत्तियों का चूर्ण बच्चों के दूध में मिलाकर पिलाने से बच्चों की हड्डियां मजबूत बनती हैं।

Drumstick Benefits
Drumstick Benefits

मुनगा महिलाओं के लिए कैसे फायदेमंद है।:Drumstick benefits in female.


महिलाओं में भी मुनगे बहुत फायदेमंद होते हैं। मुनगे से महिलाओं को कैल्शियम, प्रोटीन, आयरन और अमीनो अम्ल मिलता है।मुनगे के पत्तियों का रस अगर गर्भवती महिलाओं को इस्तमाल कराया जाये तो प्रसव पीड़ा से राहत देती है और अगर इसे दूध पिलाने बाली माँओ को पिलाया जाये तो इससे महिलाओं में दूध का स्वरूप भी बढ़ जाता है जिसके कारण उनके बच्चों को अधिक मात्रा में दूध मिलती है।

मुनगे की पत्तियां भी बहुत ही फायदेमंद है इसे सुखाकर आप लंबे समय के लिए इसका उपयोग भी कर सकते हैं मुनगे के सूखे हुए पत्तियों का चूर्ण आप सब्जी में मसाले के रूप में भी इस्तेमाल कर सकते हैं और  आटे में डालकर इसका उपयोग रोटियों के रूप में भी आप कर सकते हैं आप जब भी मुनगे के पत्तियों का चूर्ण अपने बच्चों को दे । डाइट चार्ट के माध्यम से ही उसका इस्तेमाल अपने बच्चों के ऊपर करें।

कुपोषण दूर करने में मुनगा एक महत्वपूर्ण रोल निभा सकती है।

प्राचीन समय सहजन का इस्तमाल 


प्राचीन समय में भारत के लोग भी मुनगे का इस्तमाल जड़ी बूटी  के रूप में करते रहे हैं उस समय भी मुनगा बहुत सरे बिमारियों को ठीक करता था। इसके जड़ से लेकर पत्तियो तक सभी एक आयुर्वेदिक के रूप में इस्तमाल किया जाता रहा है।

आज के समय में सभी लोग की निर्भरता जहां दवाइयों पर बढ़ गई है वही दूसरी तरफ कुछ ऐसे भी लोग हैं जो सब जानते हुए भी इन जड़ी बूटियों का इस्तमाल नहीं कर पा रहे है लेकिन कुछ ऐसे भी लोग है जो इन जड़ी बूटियों का लाभ भरपूर मात्रा में उठा रहे हैं।

अगर ये बोला जाये की जड़ी बूटियों का खोज प्राचीन भारत में सबसे ज्यादा हुआ है तो गलत नहीं होगा। अभी भी बहुत सरे ग्रंथो में उन जड़ी बूटियों का उलेख्य देखा और पढ़ा जा सकता हैं।

जहां सभी देश इन जड़ी बूटियों को अपनाने और जानने में लगा है वही हमारा देश जहां सबसे ज्यादा इन जड़ी बूटियों का खोज हुआ बो सब भूलता जा रहा है। आज जरूरत है उन ग्रंथो को खोजना और उन जड़ी बूटियों को याद रखना और उनका इस्तमाल करना।

अक्सर पूछे जाने बाले सवाल। 


Q – क्या मूंगे की फली की सब्जी हमेशा खाया जा सकता है?

मूंगे की फली हमेशा बाजार में उपलब्ध नहीं होते हैं। उनका एक सीजन होता है और जब मूंगे की फली बाजार में उपलब्ध हो तो आप हमेशा उसका इस्तेमाल कर सकते हैं।

2 Comments

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *