क्या बुखार में मेडिसिन खानी चाहिए?-Fever in Hindi

Fever in Hindi – पूरी जानकारी

क्या बुखार होने पर दवा का इस्तमाल करना चाहिए और क्या बुखार एक बीमारी है या चेतावनी जो आपको आने बाली बीमारी से सचेत करबाती है।

समान्य बुखार क्या है ? :  What is Normal Fever in Hindi ? 


जब शरीर का तापमान सामान्य तापमान से अधिक हो जाता है उसी बढ़े हुए तापमान को बुखार (fever) कहते हैं। शरीर का तापमान कई कारणों से बढ़ता है जिसमें से मुख्य है रोग प्रतिरोधक क्षमता (immune system) का कम होना।
हमारे शरीर के अंदर दो तरह के bacteria होते हैं good bacteria और bad bacteria. गुड बैक्टीरिया हमारे शरीर को बचाता है और बैड बैक्टीरिया को खत्म करता है। गुड बैक्टीरिया हमारे शरीर का एक रक्षा कवच है जो बाहरी बैक्टीरिया से लड़ता है और हमारे शरीर को बाहरी बैक्टीरिया से बचाता है। बैड बैक्टीरिया हमारे गुड बैक्टीरिया को खत्म करने की कोशिश करता है।  बैड बैक्टीरिया जब हमारे शरीर में पहुंचते हैं तो वह हमारे शरीर को नुकसान पहुंचाते हैं। 

हमारे शरीर में good bacteria और bad bacteria के बीच 24 घंटे लड़ाई चलती रहती है जब Good bacteria का तादाद कम होना शुरू हो जाता है तो हमारा शरिरीक तापमान खुद बढ जाता है उस bad bacteria को मारने के लिए ।

समान्य बुखार के लक्षण

सामान्य बुखार कोई बीमारी नहीं होती है।  सामान्य बुखार एक चेतावनी होती है कि आप बीमार पड़ने वाले हैं।  सामान्य बुखार के कारण होने वाली परेशानियां बहुत कम है जैसे…….. 

  • सर में दर्द 
  • शरीर में दर्द 
  • सर्दी

यहां पर हम जानेंगे…..

  • सामान्य बुखार क्या है ? : What is Normal Fever in Hindi ?
  • बुखार कैसे होती है ? : How is Normal Fever in Hindi ?
  • क्या बुखार में मेडिसिन खानी चाहिए ? : Should you take medicine on Normal Fever in Hindi ?
  • कितनी बुखार होने पर Medicine खानी चाहिए? : How much normal fever should take medicine ?
  • Fever कितने प्रकार के होते हैं ? : How many types of normal fever in Hindi ?
  • अक्सर पूछे जाने वाले सवाल ।

Fever कैसे होती है ? : How is Normal Fever in Hindi? 


आम बुखार ( Normal fever ) होने के बहुत सारे कारण होते हैं जैसे,

➧ठंड लगना

➧शुद्ध पानी एवं स्वच्छ भोजन ग्रहण नहीं करना
➧मौसम परिवर्तन
➧किसी भी कीट का काटना
➧एलर्जी होना

और भी बहुत कारण हैं आम बुखार (Normal fever ) होने के ।
इन सभी में मुख्य है रोग प्रतिरोधक क्षमता का हमारे शरीर में कम होना। जब रोग प्रतिरोधक क्षमता हमारे शरीर में कम होना शुरू होता है तो आम बुखार के साथ-साथ बहुत सारी बीमारियां होने का खतरा बढ़ जाता है।

क्या Fever में मेडिसिन खानी चाहिए ?


बुखार होने पर लोग अक्सर Paracetamol के tablet खा लेते हैं जबकि ऐसा कभी नहीं करना चाहिए। Fever होने पर तुरंत मेडिसिन कभी नहीं खानी चाहिए। 

इसे समझने के लिए पहले immune system को जानना बहुत जरूरी होगा। Immune system हमारे शरीर का एक रक्षा कवच है। आसान भाषा में जाने तो Immune system हमारे शरीर में एक ऐसी मेडिसिन है जो सभी बीमारियों से लड़ने की क्षमता रखती है ।

इम्यून सिस्टम ही हमें बहुत सारी बीमारियों से बचाता है।  अगर इम्यून सिस्टम हमारे शरीर का कमजोर हो जाएगा तो कोई भी  बीमारी हमारे शरीर पर हावी हो सकती है।  इम्यून सिस्टम का मजबूत होना हमारे शरीर के लिए बहुत ही जरूरी होती है। अगर आपको fever होती है तो पहले अपने immune system को काम करने दे । फीवर होने पर तुरंत मेडिसिन कभी ना लें


कितनी Fever होने पर Medicine खानी चाहिए?


अगर आपके शरीर का तापमान 101°C से 104°C के बीच में हो तो आप अपने डॉक्टर से सलाह लेकर तुरंत दवा का उपयोग जरूर करें । हमारे शरीर में कुछ ऐसे अंग हैं जो एक निश्चित तापमान को बर्दाश्त कर सकते हैं जब हमारे शरीर का तापमान बहुत ज्यादा हो जाता है तो वह अंग fail भी हो सकते हैं ।
इसलिए जब भी आपका शारीरिक तापमान एक निश्चित तापमान से ज्यादा हो जाए तो आप अपने डॉक्टर से सलाह लेकर मेडिसिन का उपयोग जरूर करें।
Fever कितने प्रकार के होते हैं ? : How many types of normal fever in Hindi?

फीवर बहुत तरह के होते हैं।
➧Normal fever
➧Malarial fever
➧Dengue fever
➧Meningitis fever
➧Viral fever etc

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल ।


Q – क्या बच्चों को भी बुखार होने के बाद तुरंत दवा नहीं देनी चाहिए ?

बच्चे बहुत ही नाजुक होते हैं अगर उन्हें बुखार होती है तो आप अपने नजदीकी डॉक्टर से तुरंत मिले।
Q – क्या ज्यादा बुखार होने पर केवल Paracetamol के tablets ही लेने से बुखार खत्म हो जाएगी?

बुखार बहुत तरीके के होते हैं और आपको कौन सा बुखार है वह इस पर निर्भर करेगा Paracetamol के tablet से आपकी बुखार ठीक होगी या तो फिर आपको कोई एंटीबायोटिक देना पड़ेगा।

Q – बच्चों को बुखार होने पर क्या करना चाहिए ?

अगर आपके बच्चे को बुखार है और  नजदीकी उपचार तुरंत उपलब्ध नहीं है तो आप अपने बच्चों पर घरेलू उपचार भी कर सकती हैं।

Q – बच्चों को बुखार होने पर होम्योपैथिक दवा का इस्तेमाल किया जा सकता है ? 

हां, आप होम्योपैथिक दवा का इस्तेमाल कर सकते हैं लेकिन इससे पहले आप कोई होम्योपैथिक डॉक्टर से सलाह जरूर लें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *