Pulsatilla homeopathy in Hindi

शक्ति | उपयोग | खुराक | दुस्प्रवाह | सवाल जबाब

Pulsatilla homeopathic hindi
Pulsatilla homeopathy in Hindi

पल्सेटिला मध्य और उत्तरी अमेरिका के एक प्रकार के वृक्ष से इसका मूल अर्क तैयार किया जाता है। इस पौधे की लंबाई लगभग 5 इंच तक होती है। यह पौधा मुख्य रूप से समतल और शुष्क स्थानों पर पैदा होता है। इसमें बैंगनी और नीले रंग के फूल लगे होते हैं। पौधे के ऊपर हर तरफ लंबे सिल्की जैसे धागे मौजूद होते हैं। इसी पौधे के जरिए Pulsetilla का मूल अर्क तैयार किया जाता है। पल्सेटिला होम्योपैथिक पद्धति में एक प्रमुख दवा माना जाता है। इस दवा का इस्तेमाल एक से अधिक बीमारियों को ठीक करने के लिए किया जाता है।

और पढ़ें  Grilinctus syrup | Dexona tablet

यह मुख्य रूप से अस्थाई दर्द, पीरियड के दौरान होने वाले दर्द, डिसमैनरिया, मेनोपॉज इत्यादि में चलाई जाने वाली होमियोपैथिक की मुख्य दवा मानी जाती है। यह दवा मदर टिंचर और अन्य शक्तियों में होमियोपैथिक पद्धति में उपलब्ध है। इस दवा का इस्तेमाल सभी उम्र  व्यक्तियों पर डॉक्टरों के द्वारा किया जाता है।

और पढ़ें    Arnica mont पूरी जानकारी 

शक्ति में पल्सेटिला की उपलब्धता : Pulsetilla available in Power.

यह एक होमियोपैथिक दवा है। इसलिए यह अलग-अलग शक्तियों और मदर टिंचर के रूप में है। यह होमियोपैथिक के प्रत्येक दुकानों में उपलब्ध होती है। पल्सेटिला एक से अधिक शक्तियों में उपलब्ध है। लेकिन इसमें से जो मुख्य है। वह निम्नलिखित है।

  • पल्सेटिला 6 c
  • Pulsatilla 30 C
  • Pulsatilla 200 c
  • पल्सेटिला 1 cm
  • Pulsatilla 10 cm

पल्सेटिला का उपयोग : Uses of Pulsatilla homeopathy in Hindi.

सभी बीमारियों के लक्षण अलग-अलग होते हैं। उन्ही लक्षणों को मिलाकर सभी होम्योपैथिक दवाइयां चलाई जाती है। पल्सेटिला का इस्तेमाल एक से अधिक बीमारियों को ठीक करने के लिए किया जाता है। उन बीमारियों के लक्षण को मिलाकर इसके अलग-अलग शक्तियों का प्रयोग किया जाता है। पल्सेटिला से ठीक होने वाली बीमारियां निम्नलिखित है।

  • एमैनरिया (Amenorrhea)
  1. आहार सम्बन्धित एमैनरिया (Dietary Amenorrhea)
  2. भावूक एमैनरिया (Emotional Amenorrhea)
  • डिसमैनरिया (Dysmenorrhea)
  • मेनोपॉज (Menopause)
  • मूत्र मार्ग की समस्या (UTI)
  • सर दर्द (tension headache)
  • त्वचा समस्या (Skin disease)
  • बाइलस (Boils)

और पढ़ें   खाँसी की होम्योपैथिक दवाइयाँ

एमैनरिया (Amenorrhea):

एमैनरिया मुख्य रूप से मेंस्ट्रूअल पीरियड को निरंतर रूप से ना आने की समस्या को कहा जाता है। जब किसी की स्त्री को 15-16 वर्ष की आयु में मेंस्ट्रूअल पीरियड ना आ रही हो या आने के बाद निरंतर रूप से समय पर उसका मासिक धर्म ना आ रहा हो। एमैनरिया में पल्सेटिला का इस्तेमाल बेहतर माना जाता है।

और पढ़ें B-Ve phos का उपयोग

1 – आहार सम्बन्धित एमैनरिया (Dietary Amenorrhea) :

प्रतिबंधित आहार या उपवास करने के कारण शरीर के वजन घट जाती है। जिसके कारण मासिक धर्म निरंतर और समय पूर्वक नहीं आ पाता है।

और पढ़ें अल्फाल्फा टॉनिक

2 – भावूक एमैनरिया (Emotional Amenorrhea) :

स्त्रियों में इमोशनल एमैनरिया भी काफी अधिक पाई जाती है। स्तब्धता,भय और हिस्टीरिया के कारण भी मासिक धर्म रुक जाता है। जिसे इमोशनल एमैनरिया कहा जाता है।

और पढ़ें  टाइफाइड की होम्योपैथिक दवा

डिसमैनरिया (Dysmenorrhea) :

जिन लड़कियों में मासिक धर्म के दौरान दर्द की अनुभूति होती है। उसे डिसमैनरिया कहा जाता है। यह दर्द मुख्य रूप से पीठ और कमर के अलावे पैरों में उत्पन्न होती है। मासिक धर्म के समय दर्द होने के कारण काफी सारी लड़कियां अधिक परेशान होती हैं। इस समस्या में भी पल्सेटिला का इस्तेमाल काफी बेहतर माना जाता है।

और पढ़ें नपुंसकता की होम्योपैथिक दवा

मेनोपॉज (Menopause) :

मासिक धर्म को रुक जाने की अवस्था को मेनोपॉज कहा जाता है। 35 से 45 वर्ष की आयु में जब किसी स्त्री का मासिक धर्म रुक जाता है। मासिक धर्म रुकने के दौरान जब कोई परेशानी उत्पन्न होती है। तो उस अवस्था को मेनोपॉज कहा जाता है। उस अवस्था में भी पल्सेटिला का इस्तेमाल काफी बेहतर माना जाता है।

और पढ़ें   Cyclopam syrup | Cyclopam tablet

पल्सेटिला की खुराक : Dosage of Pulsatilla homeopathy in Hindi.

Pulsetilla का इस्तेमाल सभी बीमारियों में अलग-अलग की जाती है यह बीमारी की जटिलता और उम्र पर निर्भर करता है।पल्सेटिला का इस्तेमाल बीमारी के लक्षणों को मिलाकर किया जाता है। पल्सेटिला के सभी शक्तियों का इस्तेमाल बीमारी के लक्षणों के अनुसार की जाती है। पल्सेटिला की सभी शक्तियों में अल्कोहल की मात्रा काफी ज्यादा होती है। इसलिए किसी डॉक्टर के परामर्श के बाद ही इस दवा का इस्तेमाल करना चाहिए।

और पढ़ें Pilex tablet | Pilex ointment

पल्सेटिला का दुष्प्रभाव : Side effects of Pulsatilla homeopathy in Hindi.

यह एक होमियोपैथिक दवा है। और इस दवा में अल्कोहल की मात्रा काफी ज्यादा होती है। इसलिए इस मेडिसिन का इस्तेमाल बिना किसी डॉक्टर सलाह कि नहीं करना चाहिए। इस दवा का दुष्प्रभाव सभी व्यक्तियों में नहीं देखा गया है। लेकिन अगर आप किस दवा का इस्तेमाल करते हैं। और किसी भी तरह का दुष्प्रभाव आपने दिखे तो आप तुरंत अपने नजदीकी डॉक्टर से संपर्क करें।

और पढ़ें   Shilajit | Patanjali shuddh silajit

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल।

Q – क्या Pulsetilla का इस्तेमाल छोटे बच्चों में भी किया जा सकता है?

हां, पल्सेटिला का इस्तेमाल छोटे बच्चों में भी किया जाता है लेकिन इस्तेमाल करने से पहले आप अपने नजदीकी होम्योपैथिक डॉक्टर से सलाह जरूर लें। 

Q – क्या Pulsetilla की खुराक पुराने दर्द को भी खत्म कर देता है?

नहीं, Pulsetilla की खुराक पीरियड के दौरान होने वाले दर्द को ही खत्म कर पता है।

Q – बच्चों में पल्सेटिला का इस्तेमाल कितनी पावर का करना चाहिए?

सभी दवाओं का इस्तेमाल बीमारी की जटिलता और रोगी के बजन के अनुसार की जाती है बच्चों को किसी भी तरह का दवा देने से पहले आप अपने नजदीकी डॉक्टर से सलाह जरूर लें। 

Q – क्या पल्सेटिला का इस्तेमाल केवल पीरियड के दौरान होने वाले दर्द में ही की जाती है?

नहीं, होम्योपैथिक दवा में एक दवा का इस्तेमाल किसी भी एक बीमारी में नहीं की जाती है। होम्योपैथिक दवा का इस्तेमाल उसके लक्षण पर किए जाते हैं।

और पढ़ें :


0 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Stay Home - Stay Safe

COVID-19